राहुल-प्रियंका के करीबी अजय कपूर ने छोड़ी पार्टी, चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका

कानपुर
लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में कांग्रेस को एक और झटका लगने वाला है. कानपुर की राजनीति का बड़ा चेहरा माने जाने वाले पूर्व विधायक अजय कपूर आज बीजेपी में शामिल होने वाले हैं. बताया जा रहा है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा उन्हें पार्टी में शामिल करा सकते हैं.

गौरतलब है कि अजय कपूर, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के करीबी नेताओं में गिने जाते थे. ऐसे में उनके कांग्रेस छोड़ने की खबर के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई हैं. अजय कपूर ने एक्स (ट्विटर) बायो से कांग्रेस हटा दिया है. वह कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और बिहार के सह प्रभारी रहे हैं.

अभी हाल ही में वो राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' में शामिल हुए थे. राहुल गांधी और प्रियंका के ठीक बगल में अजय कपूर ही बैठे थे. ऐसे में अजय कपूर के बीजेपी में आने के बाद कानपुर में कांग्रेस को बड़ा झटका लग सकता है.

मालूम हो कि कानपुर से अजय कपूर 3 बार विधायक चुने जा चुके हैं. कांग्रेस कानपुर सीट से उन्हें लोकसभा चुनाव में उतारना चाहती थी. लेकिन इससे पहले ही कपूर ने पार्टी छोड़ने का मन बना लिया.

बता दें कि यूपी में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस साथ चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस 17 और समाजवादी पार्टी 63 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. सपा ने अभी तक 31 सीटों पर प्रत्याशियों का एलान भी कर दिया है. हालांकि, कांग्रेस ने यूपी के लिए अपने प्रत्याशियों का ऐलान नहीं किया है.

महाराष्ट्र में भी कांग्रेस को झटका

कांग्रेस के पूर्व मंत्री और प्रमुख आदिवासी नेता पद्माकर वलवी आज प्रदेश अध्यक्ष चन्द्रशेखर बावनकुले और गिरीश महाजन की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल होंगे. पद्माकर वलवी नंदुरबार के शहादा निर्वाचन क्षेत्र से पूर्व कांग्रेस विधायक हैं. राज्य के पूर्व खेल मंत्री वलवी नंदुरबार और उत्तरी महाराष्ट्र में कांग्रेस के प्रमुख चेहरों में से एक हैं.

वाल्वी का बीजेपी में शामिल होना तब हो रहा है जब राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा नंदुरबार जिले और उत्तरी महाराष्ट्र से होकर गुजर रही है. इससे पहले वाराणसी के पूर्व सांसद राजेश मिश्रा भी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं.