प्रधानमंत्री मोदी ने वर्चुअल तरीके से देश को तीन सेमीकंडक्टर यूनिट का तोहफा दिया

नई दिल्ली

सेमी-कंडक्टर के क्षेत्र (Semiconductor) में ग्लोबल प्लेयर बनने की ओर भारत ने तेजी से अपने कदम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं. बीते दिनों माइक्रोन प्रोजेक्ट के बाद बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल तरीके से देश को तीन सेमीकंडक्टर यूनिट का तोहफा दिया है. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए तीन सेमीकंडक्टर परियोजनाओं का शिलान्यास किया.

ग्लोबल पावर बनता जा रहा है भारत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इंडियाज टेकडे चिप्स फॉर विकासित भारत कार्यक्रम में हिस्सा लिया और इस दौरान तीनों सेमीकंडक्टर यूनिट का शिलान्यास किया. प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि भारत पहले ही स्पेस, न्यूक्लियर और डिजिटल पावर है और अब आने वाले समय में देश सेमीकंडक्टर सेक्टर में एक ग्लोबल पावर बनेगा. उन्होंने कहा कि अभी हम जो फैसले ले रहे हैं, जो नीतियां बना रहा है इसका स्ट्रेटेजिक एंडवांटेज मिलेगा.

Pm Narendra Modi ने तीन सेमीकंडक्टर यूनिट का शिलान्यास करते हुए अपने संबोधन में कहा कि इस सेक्टर में भारत की ग्रोथ से सबसे ज्यादा लाभ देश के युवाओं को होने वाला है. उन्होंने कहा, '21वीं सदी, टेक्नोलॉजी ड्रिवेन है और इलेक्ट्रॉनिक चिप के बिना उसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती. मेड इन इंडिया चिप, भारत में डिजाइन किया गया चिप, भारत को आत्मनिर्भरता और आधुनिकता की तरफ ले जाएगी.'

'सेमीकंडक्टर सेक्टर विकास का द्वार'
PM Narendra Modi ने तीन सेमीकंडक्टर यूनिट का शिलान्यास करते हुए अपने संबोधन में कहा कि इस सेक्टर में भारत की ग्रोथ से सबसे ज्यादा लाभ देश के युवाओं को होने वाला है. उन्होंने कहा कि सेमीकंडक्टर सेक्टर कम्युनिकेशन से लेकर ट्रांसपोर्टेशन तक कई सेक्टर में अहम रोल निभाता है. देश में सेमीकंडक्टर प्लांट स्थापित होने और चिप मैन्युफैक्चरिंग के जरिए रोजगार के बड़े अवसर पैदा होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि Semiconductor Sector विकास का वो द्वार है, जो असीम संभाववनाओं से भरा हुआ है. भारतीय युवाओं की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज सेमीकंडक्टर चिप की जो डिजाइन है और इसे बनाने में जो दिमाग है, वो भारतीय युवाओं का है.

पीएम बोले- स्टार्टअप्स के लिए नए मौके
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चिप मैन्युफेक्चरिंग (Chip Manufacturing) सिर्फ एक इंडस्ट्री नहीं है, बल्कि देश के विकास का वो द्वार खोलती है, जो असीम संभावनाओं से भरा हुआ है. इस सेक्टर से न सिर्फ भारत में रोजगार के नए अवसर बनने वाले हैं, बल्कि तकनीकी उन्नति (Tech Growth) के क्षेत्र में भी बड़ी प्रगति होने वाली है. PM Modi ने कहा, 'हम एक तरफ देश में तेजी से गरीबी कम कर रहे हैं और दूसरी तरफ भारत में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का भी निर्माण कर रहे हैं, देश को आत्मनिर्भर भी बना रहे हैं. सिर्फ 2024 में ही अब तक 12 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की योजना का लोकार्पण और शिलान्यास हो चुका है. प्रधानमंत्री के मुताबिक, भारत स्टार्टअप इकोसिस्टम (Startup Eco-System) में तीसरा बड़ा प्लेयर है और सेमीकंडक्टर सेक्टर में हमारे स्टार्टअप्स के लिए नए मौके बनने जा रहे हैं.

आत्मनिर्भर भारत मिशन में अहम रोल
PM Modi के संबोधन के पहले केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, 'आज एक साथ 3 सेमीकंडक्टर यूनिट का भूमिपूजन है. ये तीनों परियोजना और हाल में हुए माइक्रॉन परियोजना, इन चारों को मिलकर 4 बड़े प्लांट तैयार होंगे और भारत में सेमीकंडक्टर उद्योग स्थापित होगा. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत मिशन में सेमीकंडक्टर उद्योग का बहुत ही महत्वपूर्ण रोल है. इन चारों में से एक प्लांट आज असम में लगा है, डबल इंजन की सरकार में कैसे काम होता है ये चारों प्लांट इसका उदाहरण हैं