मंत्री शाह की पहल पर भोपाल गैस त्रासदी में प्रभावित परिवारों के कैंसर रोगियों को अब एम्स भोपाल में निःशुल्क जांच एवं उपचार

भोपाल

भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह की पहल पर भोपाल गैस त्रासदी में प्रभावित परिवारों के कैंसर रोगियों का अब एम्स भोपाल में निःशुल्क जांच एवं उपचार की सुविधा मिलेगी। इस बारे में संबंधितों के बीच मेमोरेण्डम आफ अन्डरस्टैडिंग (एमओयू) हो चुका है। इस एमओयू के जरिये एम्स भोपाल में गैस पीड़ितों एवं उनके बच्चों को संभावित या स्थापित कैंसर रोग की जांच एवं समुचित उपचार निःशुल्क उपलब्ध कराया जायेगा।

संचालक, भोपाल गैस त्रासदी राहत व पुनर्वास श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि इसके लिए एम्स भोपाल द्वारा कैंसर विभाग में अलग से 'मेडिकल सोशल वेलफेयर ऑफिसर' तैनात किया गया है। निःशुल्क जांच व उपचार पाने के लिये आवेदक को गैस राहत विभाग के अधीन किसी हॉस्पिटल/क्लीनिक/औषधालय के डाक्टर्स से कैंसर की जाँच या उपचार के लिये 'रेफरल फार्म' तैयार कराकर एम्स भोपाल में जमा कराना होगा, जहां उन्हें पूर्ण जाँच एवं समुचित उपचार की निःशुल्क सुविधा प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि ऐसी जांचें या उपचार, जो एम्स भोपाल में निःशुल्क नहीं होते या आयुष्मान योजना में भी कवर नहीं होते है। उनका भुगतान भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास विभाग करेगा। इसके लिए एम्स भोपाल में कैंसर रोग से पीड़ितों व उनके बच्चों के इलाज के पंजीयन हेतु अलग से रजिस्ट्रेशन काउन्टर की कारगर व्यवस्था की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. शाह ने कुछ दिन पहले ही विभागीय अधिकारियों से कहा था कि सभी गैस पीड़ितों एवं उनके बच्चों को संभावित या स्थापित कैंसर रोग की जांच एवं उपचार की सभी सुविधाएं एम्स भोपाल में निःशुल्क दिलाने की व्यवस्था की जाये। मंत्री डॉ. शाह के निर्देश पर संचालक, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास विभाग तथा कार्यकारी निदेशक (ईडी) एवं सीईओ एम्स भोपाल के मध्य 20 जनवरी 2024 को एमओयू साईन कर लिया गया है। एमओयू होने से अब गैस पीड़ित कैंसर रोगियों का उपचार और बेहतर तरीके से हो सकेगा।