परमार ने संस्थान स्थित “पंचकर्म सुपर स्पेशियलिटी एवं वैलनेस केंद्र” में “सीटी स्कैन यूनिट” का लोकार्पण भी किया

भोपाल

उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा एवं आयुष मंत्री इन्दर सिंह परमार ने बुधवार को पं. खुशीलाल शर्मा शासकीय आयुर्वेद संस्थान, भोपाल स्थित पंचकर्म सुपर स्पेशियलिटी एवं वैलनेस केंद्र में "सीटी स्कैन यूनिट" का पूर्ण विधि-विधान से पूजन-अर्चन कर लोकार्पण किया। परमार ने "पंचकर्म सुपर स्पेशियलिटी एवं वैलनेस केंद्र" में जनकल्याण के लिए दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं का अवलोकन भी किया।

आयुष मंत्री परमार ने पं. खुशीलाल शर्मा शासकीय आयुर्वेद संस्थान के परिसर में बनने वाले "फार्मेसी भवन" का वैदिक मंत्रोच्चार के साथ भूमिपूजन एवं शिलान्यास भी किया।

इस अवसर पर विधायक भोपाल (दक्षिण-पश्चिम) भगवान दास सबनानी, आयुक्त आयुष श्रीमती सोनाली पोंक्षे वायंगणकर एवं संस्थान के प्रधानाचार्य डॉ उमेश शुक्ला सहित संस्थान के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

वन विहार में अतिवृद्ध बाघिन टी-40 के स्वास्थ्य में सुधार

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में कान्हा टाईगर रिजर्व मंडला से 5 नवंबर, 2023 को उपचार के लिये लाई गई अतिवृद्ध बाघिन टी-40 के स्वास्थ्य में सुधार आया है। उसे वन विहार स्थित रेस्क्यू सेंटर में रखा गया था ।

निरंतर उपचार के चलते बाघिन के स्वास्थ्य में गुणात्मक सुधार हुआ है । उसका क्रियेटीनीन लेवल काफी कम हुआ है। बाघिन ने अपना नियमित भोजन लेना प्रारंभ भी कर दिया है। बाघिन की गतिविधियों पर निगरानी रखी जाकर सतत उपचार किया जा रहा है।

यह बाघिन 16 दिसंबर 2023 से बीमार चल रही थी एवं स्वास्थ्य परीक्षण में पाया गया था कि इसके गुर्दे ठीक से काम नहीं कर रहे, जिससे क्रियेटीनीन एवं ब्लड यूरिया लेवल बहुत बढ़ गया था साथ ही उसने भोजन लेना भी बंद कर दिया था। बाघिन को सतत गहन निगरानी में रखा जाकर डॉ. अतुल गुप्ता वन्यप्राणी चिकित्सक वन विहार ने उपचार किया। इसमें डॉ. काजल जाधव, सहायक प्राध्यापक राज्य वन्यप्राणी फॉरेंसिक हैल्थ जबलपुर एवं डॉ. राजेश तोमर वन्यप्राणी चिकित्सक मुकुदपुर जू से भी परामर्श लिया गया था। बाधिन को लगातार फ्लूड थेरेपी दी गई तथा आवश्यक उपचार किया गया और हर आठवें दिन उसका ब्लड सेम्पल लिया गया।