आयोध्या में राम लला के दरबार में दिल खोलकर दान, पहले दिन आया 3.17 करोड़ का चढ़ावा

आयोध्या

अयोध्या के राम मंदिर (Ram Mandir) में राललला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद पहले दिन मंगलवार को भक्तों द्वारा 3.17 करोड़ रुपए का चढ़ावा (Donation) चढ़ाया गया. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी अनिल मिश्रा ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन 10 दान काउंटर खोले गए थे. 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद भक्तों ने दान काउंटर और ऑनलाइन दान के रूप में 3.17 करोड़ रुपए का दान दिया.

मिश्रा ने बताया कि 23 जनवरी को पांच लाख से ज्यादा भक्तों ने दर्शन किए, जबकि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दूसरे दिन बुधवार को रात 10 बजे तक 2.5 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने मंदिर में दर्शन किए. बुधवार को प्राप्त राशि का खुलासा अगले दिन गिनती के बाद किया जाएगा. उन्होंने कहा कि दर्शन व्यवस्थित ढंग से हो इसके लिए प्रशासन से चर्चा कर व्यवस्था की जा रही है.

इस बीच, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले ने अयोध्या के आसपास के संघ कार्यकर्ताओं को मंदिर की सफाई की जिम्मेदारी स्वीकार करने और सुव्यवस्थित तरीके से मंदिर दर्शन के संचालन में सहयोग करने का निर्देश दिया है.

रामलला के मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़

दूसरी ओर, रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम लोगों के लिए खोले गए अयोध्या के मंदिर में बुधवार को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिली. रामपथ और मंदिर परिसर के आसपास सुबह से ही श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी कतार देखने को मिली. कड़ाके की ठंड, कोहरे और शीतलहर के बीच लोग मंदिर के बाहर लाइन में खड़े नजर आए. श्रद्धालु ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते दिखे.

जिला प्रशासन के मुताबिक, मंदिर में बुधवार को ढाई लाख से ज्यादा लोगों ने रामलला के दर्शन किए. अधिकारियों ने बताया कि मंदिर के मार्गों पर जन सैलाब उमड़ पड़ा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर श्रद्धालुओं की सहूलियत के लिए प्रशासन व पुलिस की टीम पूरी तरह मुस्तैद रही. बुधवार सुबह मंदिर के कपाट खुलने के बाद रामलला के दर्शन का सिलसिला शुरू हुआ.

पहले दिन 5 लाख लोगों ने दर्शन किए

जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया कि सोमवार को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम लोगों के लिए मंगलवार को खोले गए मंदिर में पहले दिन पांच लाख लोगों ने दर्शन किए. वहीं बुधवार को भी सुबह से श्रद्धालुओं को सुगम दर्शन करवाने के लिए प्रशासन जुटा रहा. उन्होंने बताया कि बुधवार को ढाई लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने दर्शन किए.

जिलाधिकारी ने बताया कि श्रद्धालुओं की भारी संख्या के चलते फिलहाल मंदिर सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक खोला जा रहा है. पहले यह टाइमिंग सुबह 7 बजे से सुबह साढ़े ग्यारह बजे तक, फिर दोपहर 2 बजे से शाम 7 बजे तक थी. भीषण ठंड और कोहरे के बावजूद लोग सुबह से ही मुख्य मार्ग राम पथ और मंदिर परिसर के आसपास लंबी कतारों में खड़े हो रहे हैं.

मंदिर परिसर के बाहर RAF और CRPF तैनात

एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर परिसर के बाहर रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की टीमों को तैनात किया गया है. अयोध्या के आयुक्त गौरव दयाल ने कहा, 'भक्तों की भीड़ अभी भी बेहिसाब है. हम स्थिति को कंट्रोल करने की कोशिश कर रहे हैं. हम आपातकालीन वाहनों और खराब होने वाली वस्तुओं को ले जाने वाले वाहनों को फैजाबाद में जाने की अनुमति दे रहे हैं, लेकिन अयोध्या शहर में प्रवेश अभी भी बंद है.'

मंदिर में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में पूछे जाने पर महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया, 'हमने दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए बेहतर कतार प्रणाली स्थापित की है. दर्शन सुचारू रूप से चल रहा है. हमने एक सार्वजनिक सुविधा केंद्र और एक अलग निकास मार्ग स्थापित किया है.'

सीएम योगी आदित्यनाथ ने की बैठक

इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने भीड़ को प्रबंधित करने के लिए मंदिर परिसर में की गई व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की और VIP को सलाह दी कि वे अपनी यात्राओं के कार्यक्रम से एक सप्ताह पहले राज्य सरकार या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सूचित करें. उन्होंने अधिकारियों को अयोध्या के लिए अतिरिक्त रोडवेज बसें फिलहाल रोकने का भी निर्देश दिया.

3 तरीके से करें दान-

    काउंटर पर- तुरंत रसीद लें      
    ऑनलाइन- मेल पर रसीद लें
    ट्रस्ट के अकाउंट में- ट्रस्ट की वेबसाइट से रसीद लें

आज रामलला के दर्शन का तीसरा दिन है। श्रद्धालुओं की आस्था के सैलाब को संभालने के लिए 8000 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर लगे हैं और लोगों को रामलला के दर्शन अच्छे से हो रहे हैं जिससे राम भक्त काफी खुश हैं और प्रशासन की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्रा ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन 10 दान काउंटर खोले गए थे। इसके अलावा देश-दुनिया से तमाम राम भक्तों ने ऑनलाइन दान प्रभु श्रीराम को भेजा है। अनिल मिश्रा के अनुसार, मंगलवार 23 जनवरी को 5 लाख से ज्यादा रामभक्तों ने दर्शन किया है। दर्शन सुव्यवस्थित हो इसके लिए प्रशासन से वार्ता करके व्यवस्था की जा रही है।

दूसरी तरफ RSS के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने ट्रस्ट के सभी पदाधिकारी के साथ बैठक करके नई रणनीति तैयार की है। उन्होंने अयोध्या के आसपास के संघ के कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वह मंदिर में साफ-सफाई की जिम्मेदारी स्वीकार कर लें और सुव्यवस्थित मंदिर दर्शन जारी करने में सहयोग करें।