Rajasthan: बोहरा ने विधानसभा में उठाया युवा मित्रों का मुद्दा

जयपुर.

राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को राजाखेड़ा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक रोहित बोहरा ने राजीव गांधी युवा मित्रों का मुद्दा उठाया। भाजपा सरकार को असंवेदनशील बताते हुए उन्होंने तीखा हमला बोला है। बीच में बोलने पर विधायक रोहित बोहरा की सदन में बैठे मंत्री से भी नोकझोंक हो गई। विधायक रोहित बोहरा ने कहा- पीएम नरेंद्र मोदी ने हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। लेकिन, 10 साल में केंद्र सरकार ने 20 करोड़ रोजगार नहीं दिए। बल्कि राज्य सरकार ने पांच हजार राजीव गांधी युवा मित्रों के रोजगार छीन लिए। इस दौरान विधायक रोहित बोहरा और सदन में बैठे एक मंत्री की नोकझोंक हो गई। 

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार को छोड़कर स्टेट गवर्नमेंट से सवाल कीजिए। इस पर बोहरा ने कहा कि हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा भाजपा के संकल्प पत्र में था। राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा था कि हमारी डबल इंजन की सरकार है। अगर, ऐसा नहीं है तो मुख्यमंत्री को मना करना चाहिए और यह भी बोलना चाहिए कि हम पीएम मोदी को फॉलो नहीं करेंगे। उन्होंने कहा- भाजपा विधायक जवाहर सिंह बेडम और दर्शन सिंह गुर्जर खुद राजीव गांधी युवा मित्रों को रोजगार देने की बात कह रहे हैं। जिन्होंने सरकार को लेटर भी लिखे हैं। वहीं, राजीव गांधी मित्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं, सरकार उन्हें कंबल और पानी तक उपलब्ध नहीं करा सकी है। ऐसी असंवेदनशील सरकार हमने नहीं देखी। विधायक ने कहा कि भाजपा को मिर्ची इसलिए लगी है क्योंकि उनके आगे राजीव गांधी मित्र लिखा था। सरकार चाहती तो योजना का नाम बदल सकती थी, लेकिन युवाओं को नहीं निकालते। राजीव गांधी युवा मित्रों ने राज्य सरकार ही नहीं अपितु भारत सरकार की योजनाओं को भी धरातल पर पहुंचाया था।

विधायक बोहरा  ने कहा- कांग्रेस ने सभी राजीव गांधी मित्रों को पारदर्शिता और इंटरव्यू के माध्यम से नियुक्ति दी थी। भारत संकल्प यात्रा के दौरान भी राजीव गांधी युवा मित्रों ने काम किया है। विधायक बोहरा ने सदन में स्पीकर केसे मांग करते हुए कहा कि सरकार फैसला वापस लेकर राजीव गांधी युवा मित्रों को बहाल करे।