विश्व क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट के लिए नौ सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान

नई दिल्ली
बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) ने पहले विश्व क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट के लिए नौ सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा की है।छह बार के एशियाई चैंपियनशिप शिव थापा और 2022 राष्ट्रमंडल खेलों की कांस्य पदक विजेता जैस्मीन सहित सात अन्य मुक्केबाज इटली के बस्टो अर्सिजियो में 29 फरवरी से 12 मार्च तक आयोजित होने वाले पेरिस ओलंपिक गेम्स 2024 क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में प्रतिस्पर्धा करेंगे।

थापा (63.5 किग्रा) और जैस्मीन (60 किग्रा) के अलावा, युवा विश्व चैंपियन अंकुशिता बोरो (66 किग्रा), मौजूदा राष्ट्रीय चैंपियन लक्ष्य चाहर (80 किग्रा), संजीत कुमार (92 किग्रा), 2022 एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता नरेंद्र बेरवाल (+92 किग्रा), और 2023 विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा), दीपक भोरिया (51 किग्रा), और निशांत देव (71 किग्रा) को भी शामिल किया गया है, क्योंकि वे अपनी-अपनी श्रेणियों में पेरिस 2024 कोटा के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे।
रिपोर्ट के अनुसार विभिन्न प्रदर्शन मापदंडों के आधार पर उच्च प्रदर्शन इकाई ने आयोजित व्यापक मूल्यांकन प्रक्रिया के बाद खिलाड़ियों का चयन किया है।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव, हेमंत कुमार कलिता ने कहा,“हमारा लक्ष्य 2024 में पेरिस ओलंपिक खेलों में भारत की भागीदारी को बढ़ाना है और इसे प्राप्त करने के लिए हमने पहले विश्व योग्यता टूर्नामेंट के लिए एक संपूर्ण और सावधानीपूर्वक चयन प्रक्रिया शुरू की है, उच्च प्रदर्शन टीम ने एक विस्तृत मूल्यांकन प्रक्रिया और मुक्केबाजों को दिए अंक के आधार पर मुक्केबाजों का चयन किया। हमारा विश्वास और मानना है कि इन मुक्केबाजों में न केवल प्रतिस्पर्धा करने, बल्कि जीतने और ओलंपिक में प्रतिष्ठित स्थान हासिल करने की क्षमता है।”

उल्लेखनीय है कि भारत ने पेरिस 2024 के लिए पहले ही चार कोटा हासिल कर लिए हैं, जिसमें निखत ज़रीन (50 किग्रा), प्रीति (54 किग्रा), परवीन हुडा (57 किग्रा) और लवलीना बोरगोहेन (75 किग्रा) ने एशियाई खेलों में प्रभावशाली प्रदर्शन के साथ अपनी जगह पक्की कर ली है।

पहले विश्व क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में 50 ओलंपिक कोटा होंगे, जिनमें 22 महिला वर्ग में शामिल हैं, जबकि 23 मई से तीन जून तक बैंकॉक में आयोजित होने वाले दूसरे विश्व क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के जरिए 45 से 51 मुक्केबाज क्वालीफाई करेंगे। जिन्होंने अपने महाद्वीपीय योग्यता टूर्नामेंट या पहले विश्व योग्यता टूर्नामेंट के माध्यम से किसी विशिष्ट भार वर्ग जगह नहीं बना पाये है वे प्रति वजन श्रेणी में एक एथलीट में प्रवेश के लिए पात्र होंगे।