ग्रामीण विकास मंत्री पटेल ने ग्रामीण विकास परियोजनाओं की समीक्षा

भोपाल

पंचायत एवं ग्रामीण विकास व श्रम मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने उपलब्ध संसाधनों में वित्तीय प्रबंधन के साथ लक्ष्यों को पूरा करने के लिये कार्य-योजना बनाने के निर्देश दिये। वे  मंत्रालय में ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न परियोजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने 100 दिवसीय कार्य-योजना पर चर्चा की। अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास मलय श्रीवास्तव एवं वरिष्ठ अधिकारियों ने विभागीय गतिविधियों से अवगत कराया।

मंत्री पटेल ने विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत बनने वाले आवास, सड़कों और अन्य निर्माण कार्यों की उपलब्ध बजट के अनुसार कार्यों को गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने आवास निर्माण योजनाओं में शेष कार्यों पूरा करने के निर्देश देते हुए सुझाव मांगे। मंत्री पटेल ने सड़कों की बेहतर कनेक्टिविटी के लिये इंटर डिस्ट्रिक्ट कनेक्टिविटी वाली सड़कों को पहचान करने और 5 वर्ष या उससे अधिक पुरानी सड़कों के नवीनीकरण की कार्य-योजना बनाने के निर्देश दिये।

मंत्री पटेल ने महिला स्व-सहायता समूहों के सशक्तिकरण के लिये समुचित सुविधाएँ उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आजीविका मिशन के अंतर्गत महिला समूह जिन क्षेत्रों में सफलतापूर्वक बेहतर कार्य कर रहे हैं उनकी पहचान कर उनकी बेहतरी में दिक्कतों को दूर करने का प्रयास किया जाये। इससे महिला सशक्तिकरण का कार्य पूर्ण करने में सफलता मिलेगी। बैठक में लखपति दीदियों की संख्या बढ़ाने के लिये कम्युनिटी रिसर्च पर्सन (सीआरपी) दीदियों के लिये प्रशिक्षण के प्रबंध करने के निर्देश भी दिये।

मंत्री पटेल ने प्रधानमंत्री जनमन योजना, समग्र स्वच्छता अभियान, वॉटर शेड परियोजना, पंचायती राज सहित अन्य परियोजनाओं की भी विस्तृत समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण बैंकों की शाखाओं की स्थापना पर भी चर्चा हुई। ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत संचालित प्रशिक्षण केन्द्र ‘वाल्मी’ के समुचित और बेहतर उपयोग के लिये कैलेण्डर बनाने के भी निर्देश दिये गये।