SA20 के इतिहास में सबसे कम स्कोर पर आउट हुई प्रिटोरिया कैपिटल्स, आठ बल्लेबाजडबल डिजिट तक भी नहीं पहुंचे

गकेबरहा
फिल साल्ट, राइली रूसो, कॉनिल इनग्राम और जेम्स नीशाम सरीखे विस्फोटक बल्लेबाजों से सजी टीम सिर्फ 52 रन पर ऑलआउट हो गई। हैरान करने वाली यह घटना हुई है साउथ अफ्रीका की सबसे बड़ी टी-20 लीग SA20 में। डिफेंडिंग चैंपियन सनराइजर्स ईस्टर्न केप ने पहले प्रिटोरिया कैपिटल्स को 52 रन पर आउट कर दिया, जो SA20 के इतिहास का सबसे कम स्कोर है, इसके बाद सात ओवर के भीतर रनचेज करते हुए बोनस पॉइंट के साथ जीत हासिल की। ओपनर्स को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाया।

सेंट जॉर्ज पार्क की पिच पर आश्चर्यजनक रूप से तेज गेंदबाजों के लिए शानदार उछाल थी। मेजबान टीम का पहले गेंदबाजी करने का फैसला बिलकुल सही साबित हुआ। बॉल जबरदस्त स्विंग हो रही थी, इसके बावजूद तीसरे ओवर की आखिरी गेंद तक इस तरह किसी बड़े ड्रामे की कोई उम्मीद नहीं थी, लेकिन डेनियल वॉरॉल ने एक लेंथ डिलीवरी पर फिल साल्ट (10) को स्टंप के पीछे ट्रिस्टन स्टब्स के हाथों कैच आउट करवाकर विकेटों के पतन की शुरुआत की।

अगले ओवर में इसी स्कोर पर दूसरे ओपनर विल जैक्स (12) भी आउट हो गए। इसके बाद तो विकेटों की झड़ी ही लग गई। जल्द ही प्रिटोरिया कैपिटल्स की आधी टीम सिर्फ 32 रन पर आउट हो गई। सनराइजर्स ईस्टर्न केप की ओर से राइट आर्म मीडियम पेसर ओटनील बार्टमैन ने 12 रन देकर सबसे ज्यादा चार विकेट झटके। डेनियल वॉरॉल ने 22 रन देकर तीन विकेट लिए। मार्को यानसेन ने तीन ओवर में 11 रन खर्च करते हुए दो बल्लेबाजों को आउट किया।

53 रन लक्ष्य का पीछा करना सनराइजर्स के लिए सिर्फ एक औपचारिकता भर थी, भले ही उन्होंने डेविड मलान को जल्दी खो दिया। टॉम एबेल ने 22 गेंदों में 31 रन की अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया और जॉर्डन हरमन के साथ मिलकर सातवें ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया। टूर्नामेंट की शुरुआत 10 जनवरी को हुई थी, जिसमें कुल छह टीम खेल रहीं हैं। फाइनल मैच 24 फरवरी को केपटाउन में खेला जाएगा।