सुनवाई के दौरान वकील ने जज की ओर फेंका जूता, पुलिस ने शुरू की जांच, गरमाया माहौल

आगर मालवा 
आगर मालवा में एक मामले की सुनवाई के दौरान एक वकील इस कदर भड़क गए कि उन्होंने जज की ओर जूता उछाल दिया। वहीं जज साहब भी जूता अटैक से बचने के लिए नीचे झुक गए। हालांकि इस बचने बचाने में जज साहब के कान में चोट लग गई। इसके बाद कोर्ट परिसर में माहौल गरमा गया। एडीजे ने पुलिस थाने पहुंचकर वकील के खिलाफ शासन के कार्य में बाधा का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने शिकायत मिलते ही फौरन एक्शन लिया। आरोपी वकील के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। यह घटना आगर न्यायलय परिसर में सोमवार शाम हुई। 

बताया जाता है कि आगर न्यायलय में सोमवार शाम चार बजे एक मामले की सुनवाई चल रही थी। दोनों पक्षकार नितिन अटल और पंकट अटल प्रस्तुत हुए थे। नितिन अटल ने पुष्पराज सिंह को अधिवक्ता बनाते हुए वकालतनामा पेश कराया। इस पर दूसरे पक्ष के वकील कौसर खान ने आपत्ति जताई। उन्होंने दलील दी कि पुष्पराज सिंह के हस्ताक्षर फर्जी हैं। इस दौरान दोनों पक्ष में कहा-सुनी हो गई। बताया जाता है कि नितिन अटल खुद वकील है। इस मामले में उसने पुष्पराज सिंह को अधिवक्ता बनाते हुए वकालतनामा पेश किया था। 

दूसरे पक्ष के वकील कौसर खान ने आरोप लगाया कि नितिन पहले भी कई मामलों में पुष्पराज सिंह के फर्जी दस्तखत वाले वकालतनामों को पेश किया है। कौसर खान ने कहा कि वकालतनामे पर पुष्पराज सिंह के हस्ताक्षर का मिलान कराया जाना चाहिए। मामला बढ़ता देख नितिन अटल भड़क गए। इस दौरान उन्हें शांत कराने की कोशिशें हुईं। कोर्ट ने भी नितिन अटल को हिदायत दी तो वह कथित तौर र बेकाबू हो गए। उन्होंने जूता उतारा और पीठासीन अधिकारी की ओर उछाल दिया। इस दौरान न्यायालय में मौजूद कर्मचारियों ने बीच-बचाव किया। 

प्रत्यक्षदर्शी सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान जज साहब बचने के लिए नीचे झुक गए। पुलिस ने जज साहब की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है। वकील की तलाश में पुलिस टीम लग गई है। भेजी मामले की जानकारी लगते ही कलेक्टर राघवेंद्र सिंह और एसपी विनोद कुमार भी न्यायालय पहुंचे और जांच के निर्देश दिए। नितिन अटल के भाई सुमित अटल का कहना है कि उसके भाई ने जज के खिलाफ प्रोफेशनल मिसकंडक्ट को लेकर हाई कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई है। मेरे भाई पर शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। सभी आरोप झूठे हैं।