छत्तीसगढ़ में चाय की दुकान चलाने वाली महिला ने अपने टी स्टॉल पर सोमवार को सबको मुफ्त में चाय पिलाई.

गरियाबंद

अयोध्या में करीब 500 सालों बाद रामलला के भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान होने का जश्न पूरा देश मना रहा है. इसी बीच रामलला के अयोध्या पधारने की खुशी एक महिला ने अलग अंदाज में मनाई. छत्तीसगढ़ में चाय की दुकान चलाने वाली एक महिला ने अपने टी स्टॉल पर सोमवार को सबको मुफ्त में चाय पिलाई.

मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह को यादगार बनाने के लिए 45 साल की भक्त भगवती देवदास ने अपने स्टॉल पर लोगों को फ्री में चाय पिलाने का फैसला किया. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से करीब 90 किमी दूर स्थित गरियाबंद में उनकी चाय की दुकान है.

भगवती देवदास पिछले 13 वर्षों से अपनी आजीविका चलाने के लिए गरियाबंद जिला मुख्यालय कस्बे में छोटी सी चाय की दुकान चला रही हैं. उन्होंने कहा, 'जब से मुझे पता चला कि रामलला की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होगी, मैंने उस दिन सभी ग्राहकों को मुफ्त में चाय पिलाने का फैसला किया. मैंने भगवान राम में अपनी आस्था के कारण ऐसा किया.'

भगवती देवदास ने कहा कि उन्होंने शाम तक लोगों को लगभग 600 कप चाय मुफ्त में पिलाई. पंचायत के कर्मचारी बनेश्वरी यादव ने भगवती देवदास के भगवान राम के प्रति अटूट भक्ति की प्रशंसा की. बनेश्वरी यादव और जनपद पंचायत के कर्मचारी देवदास की चाय दुकान के नियमित ग्राहक हैं.

बता दें कि रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का जश्न मनाने के लिए गरियाबंद जिले में आयोजित प्रमुख कार्यक्रमों में, धार्मिक शहर राजिम में महानदी तट पर एक लाख मिट्टी के दीपक जलाए गए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक समारोह में अयोध्या मंदिर में नई रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई और इसे लाखों लोगों ने अपने घरों और देश भर के मंदिरों में टेलीविजन पर देखा. मोदी ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की उपस्थिति में 'प्राण प्रतिष्ठा' अनुष्ठान में भाग लिया था.