नौसेना जल्द युद्धपोतों पर देने वाली है बड़ी जिम्मेदारी, महिला अग्निवीरों के लिए खुशखबरी

नई दिल्ली
भारत में 74वें गणतंत्र दिवस की तैयारियां जारी हैं। इसी बीच सीमा पर देश की रक्षा का सपना देखने वाली महिलाओं के लिए खुशखबरी है। खबर है कि भारतीय नौसेना कुछ सप्ताह में ही युद्धपोतों पर महिला अग्निवीरों की तैनाती शुरू करने जा रही है। हालांकि, इससे पहले भी करीब 50 महिलाएं युद्धपोतों पर सेवाएं दे रही हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, फरवरी के अंत तक नाविकों के तौर पर महिला अग्निवीरों की युद्धपोतों पर तैनाती हो सकती है। फिलहाल, करीब 50 महिलाएं एयरक्राफ्ट कैरियर, डेस्ट्रॉयर्स और फ्रिगेट्स जैसे बड़े युद्धपोतों पर तैनात हैं। इसके अलावा कई महिलाएं एविएशन विंग में भी सेवाएं दे रही हैं। महिला कैडेट्स के पहले बैच ने एझीमाला में 10+2 कोर्स में दाखिला भी ले लिया है।

एक और खुशखबरी
खबर है कि लेफ्टिनेंट कमांडर प्रेरणा देवस्थली युद्धपोत पर पहली महिला कमांडिंग ऑफिसर भी बनने के लिए तैयार हैं। वह जारी ट्रेनिंग के बाद यह पद संभालेंगी। कहा जा रहा है कि वह युद्धपोत INS त्रिनकट पर सेवाएं देंगी।

नौसेना के अधिकारी वाइस एडमिरल गुरुचरण सिंह का कहना है, 'अब से कुछ ही सप्ताह में जब वह (देवस्थली) जब युद्धपोत की कमान संभालेंगी, तो वह न सिर्फ महिलाओं के लिए नए रास्ते तैयार करेंगी बल्कि कई और के लिए भी अगुवाई करती नजर आएंगी।'

चौथी सबसे ताकतवर सेना है भारत के पास
हाल ही में जारी ग्लोबल फायरपावर मिलिट्री स्ट्रेंथ रैंकिंग्स 2024 के अनुसार, दुनिया की चौथी सबसे ताकतवर सेना भारत के पास है। इस लिस्ट में पहले स्थान पर अमेरिका है। जबकि, दूसरे स्थान पर यूक्रेन और तीसरे स्थान पर भारत का पड़ोसी चीन है। भारत का एक और पड़ोसी पाकिस्तान इस लिस्ट में 9वें स्थान पर है। लिस्ट में पांचवे स्थान पर दक्षिण कोरिया और 6वां देश ब्रिटेन है।