उत्तर प्रदेश

तीन दिन तक कानपुर के पांच लाख लोग झेलेंगे पानी संकट, इन इलाकों में वाटर लाइन रहेगी बंद

लखनऊ 

कानपुर में गुरुवार से शनिवार तक चुन्नीगंज, सिविल लाइंस सहित एक दर्जन मोहल्लों के पांच लाख लोग पानी का संकट झेलेंगे। चुन्नीगंज में मेट्रो कार्य के चलते गंगाबैराज से आने वाली मेन वाटर लाइन वाटर को शिफ्ट किया जाएगा। हालांकि जलकल ने बस्तियों और मोहल्लों में पेयजल का संकट न हो, इसके लिए 20 वाटर टैंकर लगाए हैं,जो ऑन डिमांड पानी की सप्लाई मोहल्ले में जाकर करेंगे।

जलकल के प्रभारी जीएम प्रमोद जौहरी ने बताया कि जिस1600 व्यास की जीआई वाटर लाइन की शिफ्टिंग की जानी है, इसी से गंगा बैराज से कच्चा पानी बेनाझाबर आता है। इसके बाद इसे ट्रीट कर मोहल्लों में सप्लाई किया जाता है। यह सप्लाई बंद होगी तो चुन्नीगंज, मैकराबर्टगंज, सिविल लाइंस सहित एक दर्जन मोहल्लों में संकट गहरा जाएगा।
 
वहीं पीरोड पर लेनिन पार्क के पास पानी की पाइप लाइन फटने से सड़क धंस गई। यहां के जोनल पंपिंग स्टेशन से जुड़े मोहल्लों में सोमवार सुबह से वाटर सप्लाई ठप रही। जलकल ने सड़क की खुदाई करके पाइप लाइन की मरम्मत की। बता दें कि आधा शहर पेयजल संकट से पहले ही जूझ रहा है।

बेनाझाबर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से जलकल ने जलापूर्ति बहाल तो की मगर पीरोड की तरफ के इलाकों गांधी नगर, जवाहर नगर, नेहरू नगर, रामबाग और सीसामऊ की सप्लाई रोक दी गई। लेनिन पार्क के पास सड़क धंसने पर आशंका थी कि सीवर की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हुई है मगर खुदाई के बाद स्थिति साफ हुई। जलकल के प्रभारी जीएम पीके जौहरी ने बताया पाइप लाइन की मरम्मत तेजी से हो रही है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *