छत्तीसगढ़ रायपुर

कलेक्टर ने दिया सुकमा तहसीलदार को हटाने का आदेश, जाते समय एसी भी ले गए

सुकमा

कलेक्टर हरीश एस ने सुकमा तहसीलदार प्यारे लाल नाग को हटाए जाने का आदेश दिया और आदेश मिलने के बाद तहसीलदार ने तहसील कार्यालय के चेंबर में लगे एसी को निकलवा कर अपने साथ ले गए।

सुकमा के तत्कालीन तहसीलदार प्यारे लाल नाग को कलेक्टर हरीश एस ने 18 नवंबर को हटा दिया था और मुख्यालय संलग्न किया था। उसके बाद जमीन के दो बड़े मामलों में 21 नवंबर को कलेक्टर ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया हैं और 7 दिन के भीतर जवाब देने को कहा हैं। यह नोटिस जमीन के अलग-अलग दो बड़े मामलों में जारी हुआ हैं। नोटिस में उल्लेखित दोनों मामलों के संदर्भ में नोटिस में लिखा गया कि तहसीलदार व पदेन उपपंजीयक रहते हुए न तो इनके द्वारा जांच किया गया और न ही अपने अधीनस्थों से जांच कराया गया ऐसा कृत्य घोर लापरवाही व उदासीनता को दशार्ता है। कलेक्टर द्वारा जारी किए गए नोटिस में उल्लेखित है कि 7 दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर व संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

ज्ञात हो कि 18 नवंबर को कलेक्टर ने आदेश जारी करके सुकमा तहसील के प्रभारी तहसीलदार प्यारेलाल नाग को हटाकर मुख्यालय संलग्न किया था। आदेश की जानकारी मिलते ही तहसीलदार प्यारे लाल नाग ने अपने चैम्बर में लगे एसी को तुरंत निकलवाकर घर पहुंचाने के लिए कहा जिसके बाद कर्मचारी द्वारा एसी निकाली गई। तहसीलदार नाग जाते-जाते एसी को भी निकलवाकर अपने साथ ले गए। यह एसी सन 2020 में तत्कालीन तहसीलदार आरपी बघेल द्वारा लगाई गई थी। 2021 में उनका तबादला हो गया उनके स्थान पर प्रभारी तहसीलदार बनकर नाग पदस्थ हुए अब नए तहसीलदार के रूप में डिप्टी कलेक्टर श्रीकांत कोराम को प्रभार मिला है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *