रेस्टोरेंट में बर्थडे पार्टी के दौरान मैनेजर की खौफनाक करतूत, पानी की बोतल में एसिड भरकर परोसा

इस्लामाबाद
पाकिस्तान में बर्थडे पार्टी के दौरान एक मैनेजर की खौफनाक हरकत ने लोगों का दिल दहलाकर रख दिया है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बर्थडे पार्टी के दौरान मैनेजर ने पानी की बोतल में एसिड भरकर दो नाबालिकों को सर्व कर दिया, जिसके बाद लाहौर पुलिस ने आरोपी मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये घटना 27 सितंबर की है और लाहौर के ऐतिहासिक ग्रेटर इकबाल पार्क के 'पोएट रेस्तरां' में घटना घटी है। रिपोर्ट के मुताबिक, एसिड पीने से बुरी तरह झुलस चुके एक नाबालिग का इलाज अभी भी अस्पताल में चल रहा है।
 
बर्थडे पार्टी में परोसा एसिड
लाहौर पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज की है, उसके मुताबिक मुहम्मद आदिल नाम के एक शक्स ने कहा है कि, पोएट रेस्टोरेंट में फैमिली बर्थडे पार्टी थी, जहां मैनेजर ने लोगों को एसिड सर्व कर दिया। आदिल ने कहा कि, "हम रेस्टरेंट में जब खाने के लिए बैठे, तो सबसे पहले पानी परोसा गया और मेरे भतीजे अहमद ने उस पानी से हाथ धोया, जिसके बाद वो रोने लगा और हमने देखा, कि उसके हाथ बुरी तरह से जल गये थे, क्योंकि पानी की बोतल में एसिड भरा हुआ था। हमने फौरन रेस्टोरेंट के मैनेजर को पानी के बोतल में एसिड होने की बात बताई।
 
भांजी पी चुकी थी एसिड
आदिल ने कहा कि,इसी बीच उसकी ढाई साल की भांजी वजीहा को उल्टी होने लगी और वो काफी जोर-जोर से चिल्ला रही थी, क्योंकि उसने दूसरे बोतल में रखा हुआ एसिड पी लिया था। जिसके बाद हम दोनों को लेकर अस्पताल भागे, जहां अभी भी दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है, हालांकि, भतीजे को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। वहीं, पुलिस ने रेस्टोरेंट मैनेजर और पांच अन्य कर्मचारियों के खिलाफ पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 336बी के तहत मामला दर्ज किया है।
 
लाहौर पुलिस ने क्या कहा?
वहीं, लाहौर पुलिस के अधिकारी ताहिर वकास ने सोमवार को पीटीआई-भाषा को बताया कि, "हमने रेस्तरां प्रबंधक मुहम्मद जावेद को गिरफ्तार कर लिया है और शिकायतकर्ता द्वारा नामित अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।" उन्होंने कहा कि, पुलिस ने जांच पूरी होने तक रेस्टोरेंट को भी बंद कर दिया है। अधिकारी ने कहा कि, "यह एक अजीब घटना है और हम इसकी सभी कोणों से जांच कर रहे हैं।" हालांकि, मैनेजर ने पानी के बोतल में एसिड क्यों भरी थी, इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *