गहलोत के मंत्री टीकाराम जूली को भरी सभा में कहा लूला-लंगड़ा

जयपुर
 
राजस्थान के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली को लूला-लंगड़ा कहने पर सियासी बवाल मच गया है। जूली को पूर्व विधायक जयराम जाटव ने लूला-लंगड़ा बता दिया। इसका सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ है। जूली समर्थकों ने मामले की निंदा करते हुए पूर्व विधायक से माफी मांगने की मांग की है। मामले के तूल पकड़ने पर पूर्व विधायक जयराम जाटव सफाई दी की मैंने नहीं कहा, गांव वालों ने कहा था। 

पूर्व विधायक ने किया अशोभनीय शब्दों का इस्तेमाल
पूर्व विधायक जाटव शनिवार को उमरेण पंचायत समिति में गांव चंद बाग में मीटिंग में पहुंचे थे। इस दौरान ग्रामीणों के सामने भरी सभा में पूर्व विधायक ने मंत्री टीकाराम जूली को लेकर अशोभनीय शब्दों को प्रयोग किया। जाटव ने सफाई में कहा कि मीटिंग में वही बात दोहराई थी जो उमरैण गांव के लोगों ने वहां के प्रधान दौलत राम जाटव को कही थी। दरअसल श्मजशान घाट के काम को लेकर उमरैण के ग्रामीण प्रधान दौलत राम जाटव के पास पहुंचे थे। तो प्रधान ने कहा कि काम हो जाएगा, एक बार बॉस (टीकाराम जूली) से कहलवा दो। इस पर ग्रामीणों ने कहा था कि लूले-लंगड़े कब से बॉस हो गए।

जूली समर्थक भड़के
पूर्व विधायक जयराम जाटव ने कहा कि मैंने ग्रामीणों की बात मीटिंग में दोहराई थी। मेरी भावना किसी को अपमानित करने की नहीं थी। हालांकि जाटव के बयान के बाद सर्व समाज दिव्यांग जन संस्थान में गहरो रोष है। जूली समर्थक उमरैण पंचायत समिति प्रधान दौलतराम जाटव और मालाखेड़ा प्रधान वीरवती ने माफी नहीं मांगने पर मुकदमा करने की चेतावनी दी है। फिलहाल मामले को लेकर किसी प्रकार का केस दर्ज नहीं कराया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *