90 साल की बुजुर्ग को डीएम ने दिलाया 5 कुंतल गेहूं और 2 कुंतल चावल, तहसीलदार से बोले-‘अम्‍मा को अपनी गाड़ी से घर छोड़ आइए’

 लखनऊ
 
लखनऊ के मोहनलालगंज में शनिवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस में जनसुनवाई के दौरान डीएम की नजर 90 साल की बुजुर्ग सरजू देई पर पड़ी तो उन्‍होंने तत्‍काल उनका हालचाल लिया। सरजू देई राशन न लेने की फरियाद लेकर आई थीं। उन्‍होंने डीएम से कहा- 'राशन नहीं मिल रहा।' जनसुनवाई कर रहे डीएम सूर्य पाल गंगवार ने हाथ जोड़ उनका अभिवादन किया। इसके बाद उन्‍हें 5 कुंतल गेहूं, 2 कुंतल चावल दिला दिया। उन्‍होंने तहसीलदार से कहा कि अम्मा को अपनी गाड़ी से घर छोड़ आइए। जनपद की पांचों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस पर 551 प्रकरण में 110 का मौके पर निस्तारण हुआ।

अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर डीएम ने अफसरों को वृद्धजनों के प्रति संवेदनशीलता बरतने का निर्देश दिया। ज़िला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि ऐसे निराश्रित वृद्धजनों की बनाए सूची जिन्हें पहले राशन मिलता था अब नहीं मिल रहा। उनका सत्यापन कर उपलब्ध कराएं। इसके पहले खाने को मोहताज सरजू देई छड़ी के सहारे किसी तरह डीएम सूर्यपाल गंगवार के सामने पहुंचकर फफक पड़ी थीं। उनकी आंखों से लगातार आंसू बह रहे थे। कांपते होठों से वह अपना दुख भी नहीं बता पा रही थीं।

स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों के पैरों में गिर गई महिला
अयोध्या खेड़ा की मधु पति के इलाज को स्वास्थ्य अधिकारियों के पैरों में गिर गई। बताया कि पति राम मिलन रक्षा बंधन के समय घायल हो गए। वे मजदूरी करते थे, जिससे घर चलता था। इलाज में हजारों खर्च हो गए, वह कर्जदार हो गई। काम छूटने के चलते परिवार नहीं पल पा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *