देश

पिता ने बच्चों का गला दबाकर मार डाला, फंदा लगाकर कर ली आत्महत्या

 चक्रधरपुर

झारखंड के चक्रधरपुर में एक दरिन्दे पिता ने अपने दो बच्चों को पीटने के बाद गला दबाकर मार डाला और खुद भी आत्महत्या कर ली. दिल दहला देने वाली यह घटना इंदकाटा गांव की है. शख्स ने देर रात इस वारदात को अंजाम दिया.

पुलिस ने बताया कि हत्यारे पिता का नाम मुकेश महतो है. उसने अपने बड़े बेटे 12 वर्षीय संगम महतो और 9 वर्षीय मानसी महतो की हत्या की है और खुद भी फांसी लागा ली. मुकेश महतो के ससुर के मुताबिक, मृतक पत्नी और दोनों बच्चों के साथ घर के बरामदे में सोया हुआ था. अचानक से वह उठा और अपने दोनों बच्चों को लेकर एक कमरे में चला गया. वहां उसने बच्चों की पिटाई करनी शुरू कर दी. फिर गला दबाकर दोनों की हत्या कर दी.

इस घटना के बाद मुकेश ने चक्रधरपुर के ही जामिद गांव में रहने वाले अपने ससुर को फोन किया और बताया कि उसने अपने दो बच्चों की हत्या कर दी है और खुद भी आत्महत्या करने जा रहा है. उसने कहा कि सुबह जल्दी आकर अपने नाती की लाश ले जाना. इतना कहने के बाद मुकेश महतो ने अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया. हत्या और आत्महत्या की घटना से पूरे गांव में सनसनी फैल गई है.

ससुर ने बताया कि उनकी बेटी को इस बारे में बिल्कुल भी खबर नहीं थी. वह पति और बच्चों के साथ सोई हुई थी. लेकिन यह सब कैसे और कब हुआ, उसे इस बात का बिल्कुल भी पता नहीं लग सका. सुबह जब उसने तीनों के शव देखे तो वह बेसुध होकर वहीं बैठ गई. उसका रो-रोकर बुरा हाल है.

15 साल पहले की थी लव मैरिज

जानकारी के मुताबिक, 15 साल पहले संजू महतो ने मुकेश महतो से लव मैरिज की थी. दोनों पति-पत्नी सब्जी बेचकर किसी तरह घर चला रहे थे. लेकिन इस बीच घर पर ऐसा क्या हुआ की उसके पति ने दोनों बच्चों की हत्या कर ली और खुद भी फांसी लगा ली यह किसी को समझ नहीं आ रहा है.

बच्चों के शरीर पर जख्म के निशान
घटना के बाद से बच्चों की मां संजू बदहवास हो गयी. वह भी किसी को कुछ बता पाने में असमर्थ है. पुलिस ने मौके से दो बच्चों समेत उसके पिता मुकेश महतो का शव बरामद किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए चक्रधरपुर अनुमंडल अस्पताल भेज दिया है. बच्चों के शरीर पर जख्म के निशान देखे गए हैं. मामले को लेकर मृतक मुकेश महतो ससुर और गांव वाले सहित अन्य लोगों से पूछताछ की जा रही है.

अब तक साफ नहीं हो पाई घटना के पीछे की वजह
घटना के पीछे की वजह क्या है, यह अब तक साफ नहीं हो पाया है. लेकिन कयास यही लगाए जा रहे हैं कि मुकेश महतो ने आर्थिक तंगी या फिर घरेलु विवाद में इतनी बड़ी घटना को अंजाम दिया होगा. बताया यह भी जा रहा है कि मुकेश महतो शराब का भी आदी था और मानसिक रूप से भी बीमार था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *